Saturday, 12 December 2015

हमें एक Miss Call कर दो

"हमें एक Miss Call कर दो"

































कभी तन्हा अकेली हो अगर,
या गुजर न रही हो कोई लम्बी सफर ।
बेचैन सा मन हो या लेनी हो कोई खबर तो,
हमें एक Miss Call कर दो।
चाह कर भी कुछ सोच न सको,
याद भी कुछ न आये कभी ।
भूल जाना सब कुछ, बस हमारा नंबर याद कर लो,
याद आ ही गया जब हमारा नंबर,
तो फोन उठाओ और
हमें एक Miss Call कर दो ।
आवाज तेरी कितनी प्यारी है,
किसी से भी यु खीज कर बात न करो।
हर तकलीफ बाँट लूंगा,
हर गुस्सा तुम मुझ पर उतारो।
लेकिन बस
हमें एक Miss Call कर दो ।
प्यार में तो होती रहती है अकसर कुछ गलतियां,
हमसे भूल हो गई हो तो माफ़ करना ।
माफ़ कर ही दिया तो हमसे नाराजगी कैसी,
जब हमसे नाराज ही नहीं तो,
अब तो
हमें एक Miss Call कर दो ।
सिलवटें आ जाएँगी यूँ करवटें न बदलो बिस्तर में,
नींद न आ रही हो तो एक काम करो,
ओढ़ लो सर तक चादर और झट से
हमें एक Miss Call कर दो ।

*************************************************

(इन रचनाओ पर आपकी प्रतिक्रिया मेरे लिए मार्गदर्शक बन सकती है, आप की प्रतिक्रिया के इंतजार में l)

गोकुल कुमार पटेल


Post a Comment