Tuesday, 16 October 2012

नवदुर्गा वंदना


नवदुर्गा वंदना 

आया आया आया ss..,  आया आया आयाss…,
देखो मैय्या भक्त तेरा आया ss.. 
मैय्या की भक्ति ले के, भक्ति की शक्ति ले के…
मैय्या द्वार, भक्त तेरा आयाss..
तू है मैय्या शैलपुत्री, सिद्द दात्री देवीss
तू है मैय्या चंद्रघंटा, कालरात्रि देवीss
तेरे नाम ले के मैय्या मैंने,
नवरात्री का दीप जलायाss आया आया आया ss..,  
दुखो को ब्रम्ह्चारिणी, तू है हरतीss,
खाली झोली महागौरी, तू है भरतीss,
सुखो का आँचल ओढाकर,
स्कन्दमाता, तू ही करती धुप को छायाss आया आया आया ss..,  
मैय्या कुष्मांडा, मेरा भी एक काम कर देss,
मैय्या कात्यायानी, भक्ति का दान कर देss,
संसार के मोह माया से छुटकारा दिलाकर,
रख दे मेरे सर अपने हाथो की छाया ss आया आया आया ss.., 
हे दुर्गसाधिनी तेरा ही आस है माँ,
हे दुर्गनाशिनी दूर होके पास है माँ,
हे दुर्गमेश्वरी तेरे है रूप अनेको ,
दुर्गभीमा, दुर्गा और कभी महामायाss आया आया आया ss.., 


(इन रचनाओ पर आपकी प्रतिक्रिया मेरे लिए मार्गदर्शक बन सकती है, आप की प्रतिक्रिया के इंतजार में l)
Post a Comment